Friday, November 5, 2010

सपने

सपनो में रहता है हर कोई
सपनों को हक़ीकत बनता है कोई कोई

सपने कुछ रंगीले से होते
कुछ कटीले से भी होते

सपने कुछ यादों को दुहराते
कुछ जिंदगी को रुलाते

सपने कुछ आते देर रात्रि
कुछ आते सुप्रभात्रि

कुछ को सपनों से जिंदगी मिलती 
कुछ की जिंदगी सपनें होती

सपने आँखों मे आ के है सो जाते
आँखों से उतर कर जिंदगी में है समा जाते

5 comments:

  1. कुछ को सपनों से जिंदगी मिलती
    कुछ की जिंदगी सपनें होती

    शुभकामनाएं

    ReplyDelete
  2. बहुत सुन्दर...शुभकामनाएँ|

    ReplyDelete
  3. ब्लाग जगत की दुनिया में आपका स्वागत है। आप बहुत ही अच्छा लिख रहे है। इसी तरह लिखते रहिए और अपने ब्लॉग को आसमान की उचाईयों तक पहुंचाईये मेरी यही शुभकामनाएं है आपके साथ
    ‘‘ आदत यही बनानी है ज्यादा से ज्यादा(ब्लागों) लोगों तक ट्प्पिणीया अपनी पहुचानी है।’’
    हमारे ब्लॉग पर आपका स्वागत है।

    मालीगांव
    साया
    लक्ष्य

    हमारे नये एगरीकेटर में आप अपने ब्लाग् को नीचे के लिंको द्वारा जोड़ सकते है।
    अपने ब्लाग् पर लोगों लगाये यहां से
    अपने ब्लाग् को जोड़े यहां से

    कृपया अपने ब्लॉग पर से वर्ड वैरिफ़िकेशन हटा देवे इससे टिप्पणी करने में दिक्कत और परेशानी होती है।

    ReplyDelete
  4. इस नए सुंदर से चिट्ठे के साथ आपका हिंदी ब्‍लॉग जगत में स्‍वागत है .. नियमित लेखन के लिए शुभकामनाएं !!

    ReplyDelete
  5. लेखन अपने आपमें रचनाधर्मिता का परिचायक है. लिखना जारी रखें, बेशक कोई समर्थन करे या नहीं!
    बिना आलोचना के भी लिखने का मजा नहीं!

    यदि समय हो तो आप निम्न ब्लॉग पर लीक से हटकर एक लेख
    "आपने पुलिस के लिए क्या किया है?"
    पढ़ सकते है.

    http://baasvoice.blogspot.com/
    Thanks.

    ReplyDelete